January 2014

1 February 1 January 1 March 1 जनवरी 1 फरवरी 1 मार्च 10 January 10 जनवरी 10 रूपये 100 ₹ 100 रुपये 11 January 11 जनवरी 12 January 12 जनवरी 13 January 13 जनवरी 14 January 14 जनवरी 15 August 15 January 15 अगस्त 15 जनवरी 16 January 16 जनवरी 17 January 17 जनवरी 18 January 18 अगस्त 18 जनवरी 19 January 19 जनवरी 1965 2 January 2 March 2 जनवरी 2 मार्च 20 January 20 जनवरी 20 रुपये 2015 2017 21 January 21 जनवरी 22 January 22 जनवरी 23 January 23 जनवरी 24 January 24 जनवरी 25 January 25 जनवरी 25 पैसे 26 January 26 जनवरी 26 सितंबर 26/11 27 January 27 जनवरी 28 January 28 जनवरी 29 February 29 January 29 जनवरी 29 फरवरी 3 January 3 March 3 जनवरी 3 मार्च 30 January 30 जनवरी 31 January 31 जनवरी 4 January 4 जनवरी 5 ₹ 5 January 5 जनवरी 6 January 6 जनवरी 7 January 7 जनवरी 75वाँ 8 January 8 जनवरी 9 January 9 जनवरी 9 सितम्बर AAP Abdul Hamid Abraham Lincoln Alexa Rank Aloe Vera Aloe Vera Juice Aloe Water Android Article Articles Ashes Test Series BBM Benefits Big Bang Theory Biography Biology Birthanniversary Birthday Special Blackberry Messenger Blog Blogging Tips BlogVarta Browser Budget Business C-DAC C. K. Naidu CAG Carbon Aerogel Cartoon Coconut Water Computer Computer Literacy Day Constitution of India Cosmology Cricket Current Affairs Declassify Netaji Files Dendroid Dev Anand Domain Information Dr. A.P.J. Abdul Kalam Dr. Homi Jehangir Bhabha E-Wallet Earn Talktime Earn to Blog Earth Earth Rotation ebay Ebola Virus Education entireweb ETT Evergreen Dev Anand Experience Extension Facebook Facts Fireworks Flipkart.com Forgery Free Apps Full Form Giordano Bruno GK Gmail Gmail SMS goibibo Google Google AdSense Google Flight Google Maps Google Play Graham Bell Great Personality Greatest Scientist Hacking Happ New Year Happy Independence Day Health Benefits Health Tips Hindi Hindi Blog Aggergator Hindi Quotes Hindi Thoughts History Important Days INA India's National Symbol Indian Coins Indian Railway Information Information Technology Inspirational Experiences International Mother Language Day International Peace Day Internet Internet Domain Internet Surfing Tips J. R. D. TATA Janmashtami Jellyfish Justice Kavi Pradeep Kishor Kumar Knowledge Knowledge Facts Law Logo Louis Braille Magna Carta Maqbool Fida Husain Mark Tully Mars Microsoft Mirza Galib Mobile Mobile9 Motivational Context Mukesh Mumbai Mintmark Myntra.com Mystery NASA National Drink National Girl Child Day National Science Day National Voters Day Netaji Subhash Chandra Bose Netaji Subhasha Chandra Bose News Nuclear Weapons O.K Outernet Pandit Amritlal Nagar Param Yuva - || PMJDY PMO Polio Polio free Country Pope Francis Project Loon Quotes in Hindi R D Burman Radiation Ramsetu Rare & Uncomman Indian Coins Rare Post Stamp RBI Reasoning Red Fort Republic Day of India Research Review Rohit Sharma RTI Sanjeev Kumar Sarojini Naidu Satire Corner Science Science and Technology Shrikrishan Smart Card SMS Social Media Space Science Sports Stamp Post Study Submit Super Computer Super Earth Swami Vivekananda Tea Teacher's Day Telegram The Great Wall of China Tim Berners Lee Toolbar Twitter UC Browser 9.5 United Nations Universe UP UTC Virus VX Gas Website WhatsApp WhatsApp Web Window XP Windows Phone Winston Churchill World Coconut Day World Dance Day World Earth Day World Environment Day World Forestry Day World Health Day World Heritage Day World Hindi Day World Literacy Day World Nature Conservation Day World Post Day World Refugee Day World Storytelling Day World Water Day www अटल बिहारी वाजपेयी अंतर्राष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस अंतर्राष्ट्रीय दिवस अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस अध्ययन अनुभव अनोखा विमान अन्तरिक्ष अन्तरिक्ष विज्ञान अन्तर्राष्ट्रीय दिवस अन्तर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस अप्रैल अबुल कलाम आज़ाद अब्राहम लिंकन अभिव्यक्ति अमेरिका अरविन्द केजरीवाल अर्न टॉकटाइम आउटरनेट आतिशबाजी आम आदमी पार्टी आम बजट आरटीआई इंटरनेट इंटरनेट डोमेन इंटरनेट सर्फ़िंग इतिहास इंदिरा गाँधी शांति पुरस्कार इबोला वायरस इंसाफ ई-कॉमर्स ई-वॉलेट उत्तर प्रदेश उद्घाटन उद्योगपति एंड्राइड एम. एफ. हुसैन एलो वाटर एलो वेरा जूस एलोवेरा एशेज ऐतिहासिक स्मारक ऐप ऑस्कर ओके ओम जय जगदीश हरे कथा कहानी कंप्यूटर कंप्यूटर साक्षरता दिवस कवि प्रदीप कसाब कानून कार्टून कार्बन एयरोजेल किशोर कुमार किसान किस्से - कहानियाँ कुतुबमीनार कृषि संबंधी समस्याएँ केन्द्र सरकार कैप्टन अब्बास अली कैलेंडर क्रिकेट खगोल विज्ञान खतौनी खान अब्दुल गफ्फार खान खुदाई खिदमतगार खेल खोज गणित गीतकार गुमनामी बाबा गूगल गूगल एडसेंस गूगल प्ले गूगल फ्लाइट्स गूगल मैप गैस गोरिल्ला ग्राहम बेल ग्वार पाठा घीक्वार घृतकुमारी चम्पक रमण पिल्लई चवन्नी चाय चित्तौड़ चींटियाँ चीन चीन की महान दीवार चोरी जनवरी जन्म दिवस जन्माष्टमी जय हिन्द जल संरक्षण वर्ष 2013 जानकारी जापान जालसाजी जियोर्दानो ब्रूनो जीमेल जीव विज्ञान जीवनी जुलाई जे. आर. डी. टाटा जेपी ज्ञान ज्ञान तथ्य ज्ञानपीठ पुरस्कार टाइम पत्रिका टीपू सुल्तान टूलबार टेलीग्राम मैसेंजर टॉप सर्च इंजन्स ट्राई ट्विटर डाक टिकट डूडल फॉर गूगल डेन्ड्रोइड डॉ . चन्द्रशेखर वेंकटरमन डॉ. ए पी जे अब्दुल कलाम डॉ. जाकिर अली 'रजनीश' डॉ. जाकिर हुसैन डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन डॉ. होमी जहाँगीर भाभा तथ्य तर्कशक्ति ज्ञान तिरूपति बालाजी तेलहड़ा दादा साहब फाल्के पुरस्कार दिवस दुर्लभ दुर्लभ सिक्के देशभक्त द्वितीय विश्वयुद्ध नववर्ष नारियल पानी नालंदा नालन्दा नासा नीलामी नेताजी सुभाष चन्द्र बोस पं . अमृतलाल नागर पंचम दा पंजाब केसरी पंडित श्रद्धा राम फिल्लौरी पद्म विभूषण परम युवा - 2 परमाणु हथियार पाकिस्तान पाठक पीएमओ पुण्यतिथि पृथ्वी की भ्रमण गति पैसे पोप फ्रांसिस पोलियो पोलियो मुक्त देश प्रजधयो प्रणब मुखर्जी प्रधानमंत्री प्रधानमंत्री जन - धन योजना प्रमाणपत्र प्राचीन धरोहरें प्राण प्रेरक प्रसंग प्रोजेक्ट लून फरवरी फल और सब्जी फेसबुक बराक ओबामा बादशाह खान बिग बैंग सिद्धान्त बिहार ब्रह्मांड ब्राउज़र ब्रेल लिपि ब्रेल स्टिकर ब्लॉग ब्लॉग एग्रीगेटर ब्लॉग संकलक ब्लॉग से कमाई ब्लॉगवार्ता भगत सिंह भारत भारत का गणतंत्र दिवस भारत का संविधान भारत के राष्ट्रीय प्रतीक तथा चिन्ह भारत कोकिला भारत सरकार भारत-पाक युद्ध भारतीय क्रिकेट भारतीय रिजर्व बैंक भारतीय रिज़र्व बैंक भारतीय रेलवे भारतेन्दु हरिश्चन्द्र भाषाएँ मई मकबूल फ़िदा हुसैन मंगल ग्रह मन्ना डे महत्वपूर्ण उद्धरण और कथन महत्वपूर्ण उद्धरण और विचार महत्वपूर्ण दिवस महात्मा गाँधी महान वैज्ञानिक महान व्यक्तित्व महान शायर महारानी पद्मिनी महिला कुली मार्क जुकरबर्ग मार्क टुली मार्च मार्स क्यूरियोसिटी रोवर मिर्ज़ा ग़ालिब मुकेश मुफ्त इंटरनेट मुंबई मुंबई टकसाल मूर्ति मेजर ध्यान चंद मैग्ना कार्टा मैसूर मोबाइल मोबाइल टॉवर यूटीसी यूनेस्को रणजी रणजी ट्रॉफी रमन प्रभाव रहस्य राजस्थान राज्यसभा रामसेतु राष्ट्र धरोहर राष्ट्रपति राष्ट्रपति भवन राष्ट्रभाषा हिन्दी राष्ट्रीय खेल दिवस राष्ट्रीय आविष्कार अभियान राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस राष्ट्रीय दिवस राष्ट्रीय पेय राष्ट्रीय बालिका दिवस राष्ट्रीय मतदाता दिवस राष्ट्रीय विज्ञान दिवस राष्ट्रीय शिक्षा दिवस राहुल देव बर्मन रिपोर्ट रीजनिंग ज्ञान रेडिएशन रोचक रोहित शर्मा लाल किला लाला लाजपत राय लुईस ब्रेल लेख लैंडलाइन लोकनायक जयप्रकाश नारायण लोकसभा लोगो वर्ल्ड वाइड वेब वायरस विचार - विमर्श विज्ञान विज्ञान प्रौद्योगिकी विश्व किस्सागोई दिवस विश्व जल दिवस विश्व डाक दिवस विश्व दिवस विश्व धरोहर विश्व नृत्य दिवस विश्व पर्यावरण दिवस विश्व पृथ्वी दिवस विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस विश्व वानिकी दिवस विश्व विरासत दिवस विश्व विरासत सूची विश्व शरणार्थी दिवस विश्व शांति दिवस विश्व साक्षरता दिवस विश्व स्वास्थ्य दिवस विश्व हिन्दी दिवस विंस्टन चर्चिल वीएक्स गैस वीर अब्दुल हमीद वेबसाइट व्यंग्य कोना व्यापार व्हाट्स ऐप व्हाट्स ऐप वेब शब्द - संक्षेप शमशेर सम्मान शासकीय सेवाएँ शिक्षक शिक्षक दिवस शिक्षा शोध श्रद्धांजलि श्रीकृष्ण संजीव कुमार सदाबहार देव आनंद समसामयिकी समाचार समीक्षा सम्मान संयुक्त राष्ट्र सरोजिनी नायडू सर्वे साइंस कांग्रेस सामान्य ज्ञान सिक्का सिक्के सी. के. नायडू सीमान्त गांधी सुपर अर्थ सुपर कंप्यूटर सुप्रीम कोर्ट सूचना प्रौद्योगिकी सोशल मीडिया स्मार्टकार्ड स्वतंत्रता दिवस स्वतन्त्रता सेनानी स्वदेश संस्कृति स्वामी विवेकानंद स्वास्थ्य लाभ हरिकृष्ण देवसरे बाल साहित्य पुरस्कार हर्षवर्धन हाथी हिंदुस्तान हिन्दी हिन्दी चिट्ठा संकलक हिन्दी चिट्ठाकारिता हिन्दी ब्लॉगजगत हिन्दुस्तान अखबार हिरोशिमा और नागासाकी हैकिंग


लाला लाजपत राय जी का जन्म पंजाब के मोगा जिले में 28 जनवरी, सन 1865 ई. में हुआ था। इनके पिता श्री राधाकृष्ण अग्रवाल एक साधारण स्कूल में मास्टर थे तथा इनकी माँ गुलाब देवी भी एक विदुषी महिला थी। माता पिता के उच्च संस्कारों ने उन्हें बचपन से ही संस्कारी बना दिया। इनके पिता उर्दू , अरबी और फारसी के विद्वान थे। लाला जी विरासत में उर्दू का विशेष ज्ञान प्राप्त कर तथा अपना शुरूआती अध्ययन समाप्त करके सन 1883 ई. में 18 वर्ष की आयु में लाहौर आ गए। वही से इन्होंने कानून की पढ़ाई पूरी की। लाला जी ने कानून की शिक्षा प्राप्त करके हिसार में वकालत शुरू की। परतन्त्र भारत की जनता की सेवा के लिए और भारत माता को मुक्त कराने के उद्देश्य से लाला जी ने वकालत छोड़कर देश सेवा हेतु खुद को समर्पित कर दिया था।

आर्य समाज के प्रवर्तक स्वामी दयानन्द सरस्वती के जीवन चरित्र, व्यक्तित्व एवं उनके सामाजिक कार्यों से प्रभावित होकर लाला जी 1882 ई. में आर्य समाज के सक्रिय कार्यकर्ता बन गए। अपने जीवन में आर्य समाज के प्रभाव का वर्णन करते हुए उन्होंने लिखा है कि, "मुझमें जो अच्छाइयाँ हैं, वे सब आर्य समाज के कारण और जो बुराइयाँ हैं, वे भाग्यवश हैं या माता - पिता से विरासत में मिली हैं।"
 

लाला जी ने भारतवासियों के दिलों में देशभक्ति की भावना भरने के उद्देश्य से स्वाधीनता के लिए मर मिटने वाले शिवाजी, स्वामी दयानन्द और श्रीकृष्ण की जीवनियाँ हिन्दी में लिखकर प्रकाशित की थी। "भारत का इतिहास" लिखकर पराधीन भारत का वास्तविक स्वरूप भी जनता के सामने रखा। "भारत सुधा" और "पंजाबी" पत्र के माध्यम से भी लाला जी ने भारतीयों को जगाने का प्रयास किया था।

लाला लाजपत राय जी ने सन 1888 ई. में मात्र 23 वर्ष की आयु में कांग्रेस के प्रयाग अधिवेशन में पहली बार भाग लिया था। 

सन 1905 ई. में कांग्रेस के बनारस अधिवेशन में लाला लाजपत राय जी ने कहा था, "एक अंग्रेज सबसे अधिक घृणा भिखारी से करता है। मेरा विचार है कि भिखारी है भी इस योग्य कि उससे घृणा की जाए। इसलिए हमारा कर्तव्य है कि हम अंग्रेज़ों को दिखा दें कि हम भिखारी नहीं हैं।"

लाला जी कांग्रेस के उग्रवादी दल के नेता थे इस दल में उनके साथ प्रमुख रूप से लोकमान्य बालगंगाधर तिलक और विपिनचन्द्र पाल थे। ये तिकड़ी भारतीय इतिहास में लाल बाल पाल के नाम से प्रसिद्ध हुई है।

लाला लाजपत राय जी ने मदन मोहन मालवीय जी के साथ मिलकर इंडिपेंडेंट पार्टी की स्थापना की थी।

लाला जी ने भारतीय कार्यकर्ताओं को संगठित कर लोक सेवा संघ की भी स्थापना की थी। इस संघ का उद्देश्य नि: स्वार्थ भाव से जनता की सेवा करना था। पुरूषोत्तमदास टण्डन और लाल बहादुर शास्त्री आदि व्यक्ति भी इससे किसी न किसी रूप से जुड़े थे।

लाला जी की शिक्षा - दीक्षा उर्दू में हुई थी, परन्तु वह हिन्दी भाषा के भक्त थे। एक बार उन्होंने अम्बाला में हिन्दी का पक्ष जोर - शोर से रखा था। बाद में लाला जी ने महात्मा हंसराज और पंडित गुरूदत्त के साथ मिलकर हिन्दी के समर्थन में अनेकों लोगों के हस्ताक्षर कराकर ब्रिटिश सरकार को एक प्रतिवेदन भी भेजा था।

लाला जी ने पूर्वी और पश्चिमी मिश्रित शिक्षा को भारत में स्थापित करने के उद्देश्य से सर्वप्रथम लाहौर में तथा भारत के अन्य स्थानों पर दयानन्द एंग्लो वैदिक कॉलेज की स्थापना की थी। तिलक स्कूल ऑफ पॉलिटिक्स और नेशनल कॉलेज को भी इन्होंने स्थापित किया था।

लाला जी दलितों, पीड़ितों, अनाथों, विधवाओं और असहायों के सच्चे सेवक थे। अछूतों एवं अस्पृश्यों की दुर्दशा के प्रति कट्टर हिन्दुओं का ध्यान आकर्षित करने के उद्देश्य से सन 1912 - 1913 ई में उन्होंने काशी, प्रयाग, बरेली तथा मुरादाबाद की यात्रा की और अपने ओजस्वी भाषणों द्वारा हिन्दुओं से इस कलंक को मिटाने की अपील की थी। इसी सन्दर्भ में 1913 ई. में गुरूकुल कांगड़ी में उनकी अध्यक्षता में एक अछूत सम्मेलन भी हुआ था।

ब्रिटिश सरकार ने जब साइमन कमीशन को 3 फरवरी सन 1928 ई. में भारत भेजा था। 30 अक्टूबर सन 1928 ई. को लाहौर में जब साइमन कमीशन आया तो पंजाब केसरी लाला लाजपत राय जी ने साइमन कमीशन का विरोध करते हुए नारा दिया - साइमन कमीशन वापस जाओं। उसी दिन साइमन कमीशन का के विरूद्ध प्रदर्शन करते समय पुलिस की लाठी से लाला जी घायल हो गए। इस लाठी प्रहार पर लाला जी ने उस वक्त कहा था कि -"मेरे शरीर पर पड़ी एक - एक लाठी की चोट ब्रिटिश साम्राज्य के ताबूत में कील के समान होगी।" (The Lathi blows that are hurried on me will one day prove as nail in the Coffin of the British Empire.) और बाद में भारत माता का यह अमर सपूत 17 नवम्बर सन 1928 ई. में हमेशा हमेशा के लिए अपनी भारत माता के गोद में सो गया।

तिरूपति बालाजी पर द्वीपीय देश पलाऊ ने जारी किये सिक्के  


तिरूपति बालाजी की प्रसिद्धि में और बढ़ावा हो गया है। प्रशांत महासागर के द्वीपीय देश पलाऊ की सरकार ने बालाजी के सम्मान में सिक्के जारी करने जा रहा है। हालांकि ये सिक्के सीमित मात्रा में जारी किये जायेंगे है। चाँदी के इन सिक्कों में छोटा हीरा समेत क्रिस्टल जड़ा होगा, जिसे जर्मन टकसाल में ढाला गया है। इन सिक्कों की बिक्री 16 अप्रैल, 2014 से चैत्र पूर्णिमा के दिन से शुरू होगी। ऐसा पहली बार होगा जब कोई विदेशी देश हिन्दू देवताओं के सम्मान में सिक्के जारी करेगा। सिक्के की कीमत 11, 111 रूपये होगी फिलहाल पलाऊ की सरकार ने केवल 11, 111 सिक्के ही जारी किये हैं।

नेताजी को याद किया सिर्फ एक सांसद ने 

 

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस जी का जन्म दिवस गुरूवार ( 23 - 01 - 2014 ) को संसद भवन परिसर में मनाया गया था। लेकिन इस मौके पर दोनों सदनों के मौजूदा 775 सदस्यों में से केवल एक ही सांसद भाजपा के लालकृष्ण आडवाणी ने नेताजी को श्रद्धांजलि अर्पित की, इससे यह अंदाज़ा तो हो ही जाता है कि हमारे देश के नेतागणों में अपने स्वतन्त्रता सेनानियों और शहीदों के लिए कितना मान - सम्मान है।।

एक नज़र - कुछ अलग 

भारत के तीन दिवसीय दौरे पर शनिवार ( 25 - 01 - 2014 ) को दिल्ली पहुँचे जापान के प्रधानमन्त्री शिंजो अबे भारतीय गणतन्त्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि होंगे।

चित्र साभार : गूगल
कन्या भ्रूण हत्या, बाल विवाह और दहेज़ जैसी सामाजिक कुरीतियों के बारे में लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से भारत की केन्द्र सरकार ने 24 जनवरी को राष्ट्रीय बालिका दिवस के रूप में मनाने का फैसला वर्ष 2009 ई. में किया था। ऐसा पहला दिवस वर्ष 2009 ई. में मनाया गया था।

" बेटियाँ हैं अनमोल, अब तो समझो इनका मोल "

 

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस जी के महान विचार और कथन


तुम यदि जीवन प्राप्त करना चाहते हो तो पहला उसका उत्सर्ग करना सीखो, फिर चाहे तुम्हें जो कुर्बानी देनी पड़े दो। उसके बाद निश्चित ही विजय तुम्हारी होगी।

जो जाति अन्याय का बदला लेना नहीं जानती है उसका परतन्त्र रहना ही अच्छा है। 

मत भूलो कि गुलाम रहने से बड़ा कोई अन्य पाप नहीं है। 

याद रखिये सबसे बड़ा अपराध, अन्याय को सहना और गलत के साथ समझौता करना है। 

आजादी की कीमत हमेशा ऊँची होती है और उसे पाने के लिए एक रास्ता तो हमें कभी भी नहीं चुनना चाहिए, और वह है आत्मसमर्पण और अनुरोध का रास्ता। 

तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूँगा। 

दिल्ली चलो।


आज नेताजी सुभाष चन्द्र बोस जी के 117 वीं जयन्ती पर सभी भारतवासी भारत माता के इस महान अमर सपूत को श्रद्धापूर्वक श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं। सादर नमन।।


खान अब्दुल गफ्फार खान का जन्म सन 1890 ई. में सरहदी सूबे के उतमान जई नामक गाँव में बेहराम खान के यहाँ हुआ था। अब्दुल गफ्फार की माँ विनम्र और धीर स्वभाव की धर्मपरायण महिला थी। अब्दुल गफ्फार जब 5 - 6 वर्ष के थे, तब उन्हें मस्जिद में मुल्ला के पास शिक्षा ग्रहण करने के लिए भेज दिया, परन्तु अब्दुल गफ्फार के अनपढ़ माता - पिता इतने भर से संतुष्ट नहीं थे। वे चाहते थे कि अब्दुल गफ्फार अपने बड़े भाई डॉक्टर खान साहब की तरह अच्छी पढ़ाई लिखाई करे। इसलिए 8 वर्ष के अब्दुल गफ्फार को अपने बड़े भाई के स्कूल में दाखिला दिलवा दिया गया। इसके बाद वे पेशावर गए और इसके बाद अलीगढ़ के एक कॉलेज में प्रवेश ले लिया। 

खान अब्दुल गफ्फार खान का राजनीतिक जीवन का सबसे बड़ा मोड़ तब आया जब सन 1928 ई. में कांग्रेस के लखनऊ अधिवेशन में उनकी मुलाकात महात्मा गांधी और जवाहर लाल नेहरू से हुई। 

अमानुल्ला के सामाजिक सुधारों से प्रभावित होकर खान अब्दुल गफ्फार खान ने 1929 ई. में एक सामाजिक संस्था की स्थापना की - "खुदाई खिदमतगार" जिसका अर्थ है "खुदा या भगवान की सेवा करने वाले"। उस समय पठानों को हिंसा की लत लग चुकी थी। इसलिए हर "खुदाई खिदमतगार"को शपथ दिलाई जाती थी कि - "मैं हिंसा नहीं करूँगा, न ही किसी प्रकार का बदला लूँगा, मुझ पर चाहे कोई कितना ही जुल्म करे, मैं उसे क्षमा कर दूँगा, मैं आपसी - कटुता, दलबन्दी शत्रुता और गृहयुद्ध नहीं करूँगा और पख्तून को अपना भाई और मित्र समझूँगा।"
इस संस्था के सदस्य लाल वस्त्र पहनते थे इसलिए इनका नाम "लाल कुर्ती दल" भी पड़ गया था।

वर्ष 1947, खान अब्दुल गफ्फार खान के लिए यह सबसे दर्द भरा वर्ष था। कारण था कि कांग्रेस ने जून 1947 ई. में भारत विभाजन की अँग्रेज़ी योजना को पूर्ण मंज़ूरी दे दी थी। इस योजना के तहत सरहदी सूबे में जनमत संग्रह भी कराया जाना था कि वह पाकिस्तान के साथ रहना चाहता है या भारत के साथ। अब्दुल गफ्फार को यह विश्वासघात लगा, उन्होंने कांग्रेस से कहा - "आपने जानते हुए भी हमें 'भेड़ियों' के सामने फेंक दिया है। जनमत संग्रह तो वर्ष भर पहले ही हो चुका था।" अत: इस बार खुदाई खिदमतगारों ने जनमत संग्रह के बहिष्कार करने कर डाला। उनकी शर्त थी कि - "ठीक है जनमत संग्रह भी हो जाना चाहिए।" परन्तु - "पठान लोग पाकिस्तान में रहना चाहते हैं या उन्हें आजाद पख्तूनिस्तान चाहिए।" परन्तु यह शर्त ठुकरा दी गई। बहिष्कार के बाद अल्प बहुमत से सरहदी सूबे के लोगों ने विभाजन मंजूर कर लिया। खान अब्दुल गफ्फार खान ने एक बार महात्मा गांधी से आँसू भरी आँखों से कहा था - "पर गांधी को तो आपने मार दिया" यह दिल तोड़ने वाले शब्द थे, एक गांधी के दूसरे गांधी से। 30 जुलाई, सन 1947 ई. को दिल्ली में दोनों महापुरूषों ने एक दूसरे से हमेशा - हमेशा के अलविदा कह दिया और अन्तत : वे फिर कभी नहीं मिले।

भारत के प्रति बादशाह खान का लगाव और सम्मान हमेशा रहा। भारत के प्रति उनका अपार प्रेम और स्नेह तथा उनके योगदान को देखते हुए सन 1969 ई. में "नेहरू शांति पुरस्कार" और 14 अगस्त, 1987 ई. को भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान "भारत रत्न" से विभूषित किया गया। आजादी के बाद क्रमश : 1969, 1980, 1981, 1985 और 1987 में पाँच बार वह भारत आए।

बादशाह खान और सीमान्त गांधी (फ्रंटियर गांधी) जैसे न जाने कितने ही नामों से लोकप्रिय खान अब्दुल गफ्फार खान उन महान आदर्शों को समर्पित अन्तिम भारतीय थे, जो स्वतन्त्रता के साथ ही गुलामी के गर्त में चले गए। उन्होंने जिस स्वतन्त्रता के लिए इतना बड़ा बलिदान दिया था। उसकी प्राप्ति के बाद भी वह पाकिस्तान की जेलों में सजा काटते रहे।

उन्हें अपने जीवन के अन्तिम वर्ष एक "राष्ट्रविहीन" नागरिक के रूप में बिताने पड़े और उन्होंने अन्तिम साँस भी उस देश में ली, जो कभी भी उनका नहीं रहा। 20 जनवरी, सन 1988 ई. में पेशावर (पाकिस्तान) में उनका इंतकाल हो गया। 98 वर्ष की लम्बी आयु प्राप्त करने वाला बादशाह खान और सीमान्त गांधी सदा - सदा के लिए इस दुनिया से रुखसत हो गया।

चित्र साभार - www.dw.de
भारतीय पत्रकारों का एक समूह सन 1969 ई. में जब खान अब्दुल गफ्फार खान (सीमान्त गांधी (फ्रंटियर गांधी), बादशाह खान) से काबुल (अफगानिस्तान) मिला, तब उनसे पूछा गया - "आजादी किसे मिली ?"

बादशाह खान का क्या लाजवाब जवाब था - "आजादी!! आजादी किसे मिली? हिन्दुस्तान के लोगों को और पंजाब के मुसलमानों को, पठान और दूसरे लोगों को तो सिर्फ गुलामी ही मिली।"

खान अब्दुल गफ्फार खान को बराबर यह शिकायत रही कि भारत का विभाजन स्वीकार कर पंडित जवाहर लाल नेहरू और कांग्रेस के नेताओं ने पठानों और सीमान्त प्रदेश के अन्य बाशिन्दों को पंजाबी मुसलमानों के रहमोकरम पर छोड़ दिया।

विभाजन के काले अध्याय को याद करते हुए बादशाह खान ने कहा था कि - "कांग्रेस कार्य समिति की जिस बैठक में विभाजन स्वीकार किया गया, उसके पहले उन्हें यह अहसास हो गया था कि कांग्रेस विभाजन स्वीकार करेगी। बैठक से पहले उन्होंने जवाहर लाल जी से बात करनी चाही, तो "जवाहर लाल मुँह फेरकर चुपचाप बैठक में चले गए और मैं समझ गया कि हमारा तो बेड़ा गर्क हो गया" बैठक के बारे में बताते बादशाह खान कहते थे - "बैठक में विभाजन का विरोध करने वाले केवल दो ही शख्स थे - महात्मा गांधी और पुरुषोत्तम दास टण्डन। जवाहर लाल नेहरू, सरदार वल्ल्भ भाई पटेल, मौलाना अबुल कलाम आजाद और अन्य सभी नेता बँटवारे के पक्ष में थे।" 

बाद में मैंने महात्मा गांधी को भी उलाहना दिया था, विभाजन के बारे में, तब महात्मा गांधी ने कहा था कि - "मैंने अंग्रेज़ सरकार से संघर्ष किया है, पर बुढ़ापे में नेहरू और पटेल से संघर्ष की मुझ में ताकत नहीं है।"

बादशाह खान ने महात्मा गांधी से पूछा - "फिर हमारे पठानों का क्या होगा ?"

महात्मा गांधी का उत्तर था - "घबराओं नहीं, अगर पठानों पर जुल्म होगा, तो मैं स्वयं पाकिस्तान आऊँगा।"

बादशाह खान ने तब भरी आँखों से कहा था - "पर गांधी को तो आपने मार दिया"

भारत का सुपर कंप्यूटर परम युवा - 2 दुनियाँ के शीर्ष 50 कंप्यूटरों में शामिल है। इसे भारत में पहले, एशिया में नौवें और विश्व में 44 वें स्थान पर रखा गया है। पुणे स्थित भारतीय कंपनी सीडैक (C-DAC : Centre for Development of Advanced Computing) द्वारा विकसित यह कंप्यूटर प्रति सेकण्ड 524 खरब गणनाएँ कर सकता है। यह सुपर कंप्यूटर कुल 16 करोड़ रुपये की लागत से बना है। परम युवा - 2 कंप्यूटर की गति को टेरा फ्लॉप्स (Tera Flops) में मापा जाता है। 
परम युवा - ॥

Keywords खोजशब्द :- India's Super Computer is the Param Yuva - 2 Includes the World's Top 50 computers


आज 10 जनवरी विश्व हिन्दी दिवस है। विश्व भर में हिन्दी का प्रचार - प्रसार करने के उद्देश्य से दुनिया भर में विश्व हिन्दी सम्मेलनों की शुरुआत की गई थी और ऐसा पहला सार्थक प्रयास विश्व हिन्दी सम्मेलन 10 जनवरी, 1975 ई. को नागपुर में संपन्न हुआ था। इसीलिए इस दिन को विश्व भर में विश्व हिन्दी दिवस के रूप में मनाया जाने लगा। इसी कारण आधिकारिक रूप से भारत के वर्तमान प्रधानमन्त्री श्री मनमोहन सिंह ने विश्व भर में 10 जनवरी, 2006 ई. को प्रतिवर्ष विश्व हिन्दी दिवस के रूप में मनाए जाने की घोषणा की थी। 

विश्व हिन्दी दिवस का मुख्य उद्देश्य विश्व भर में हिन्दी भाषा का विकास करना, प्रचार - प्रसार करना, हिन्दी के प्रति लोगों में जागरूकता पैदा करना और हिन्दी भाषा को अन्तर्राष्ट्रीय भाषा के रूप में दर्जा दिलाना है। विदेशों में यह दिवस कई जगह भारतवंशी मनाते है खासकर विदेशों में भारत के दूतावास विश्व हिन्दी दिवस को प्रमुख रूप से मनाते हैं। 


Keywords खोजशब्द :- India's mother tongue Hindi, World Hindi Day Information, World Hindi Conference, 

  1. ALU - Airthmetic Logic Unit (अर्थमेटिक लॉजिक यूनिट)
  2. ALGOL - Algorithmic Language (अल्गोरिथमिक लैंग्वेज)
  3. ASCII - American Standard Code for Information Interchange (अमेरिकन स्टैंडर्ड कोड फॉर इनफार्मेशन इंटरचेंज)
  4. BASIC - Beginner's ALL Purpose Symbolic Instruction Code (बेगिन्नर्स आल पर्पस सिंबॉलिक इन्सट्रकशन कोड )
  5. BCD - Binary Coded Decimal Code (बाइनरी कोडेड कोड)
  6. CPU - Central Processing Unit (सेन्ट्रल प्रोसेसिंग यूनिट)
  7. CAD - Computer Aided Design (कंप्यूटर ऐडेड डिज़ाइन)
  8. CD - Compact Disk (कॉम्पैक्ट डिस्क )
  9. C-DOT - Centre for Development of Telematics (सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ़ टेलीमैटिक्स)
  10. CLASS - Computer Literacy and Studies in School (कंप्यूटर लिटरेसी एंड स्टडीज इन स्कूल)
  11. COBOL - Comman Business Oriented Language (कॉमन बिज़नेस ओरिएंटेड लैंग्वेज)
  12. COMAL - Comman Algorithmic Language (कॉमन अल्गोरिथमिक लैंग्वेज)
  13. DOS - Disk Operating System (डिस्क ऑपरेटिंग सिस्टम)
  14. DTS - Desk Top System (डेस्क टॉप सिस्टम)
  15. DTP - Desk Top Publishing (डेस्क टॉप पब्लिशिंग)
  16. E-Commerce - Electronic Commerce (इलेक्ट्रॉनिक कॉमर्स)
  17. E-mail - Electronic Mail (इलेक्ट्रॉनिक मेल)
  18. FAX - Far Away Xerox (फार अवे ज़ेरॉक्स)
  19. Flops - Floating Operations Per Second (फ्लोटिंग ओपेरेशंस पर सेकण्ड)
  20. FORTRAN - Formula Translation (फॉर्मूला ट्रांसलेशन)
  21. FTP - File Transfer Protocol (फ़ाइल ट्रांसफर प्रोटोकॉल)
  22. HLL - High Level Language (हाई लेवल लैंग्वेज)
  23. HTTP - Hyper Text Transfer Protocol (हाइपर टेक्स्ट ट्रान्सफर प्रोटोकॉल)
  24. HTML - Hyper Text Markup Languages (हाइपर टेक्स्ट मार्कअप लैंग्वेजेज)
  25. IBM - International Business Machine (इंटरनेशनल बिज़नेस मशीन)
  26. IC - Integrated Circuit (इंटीग्रेटेड सर्किट)
  27. ISP - Internet Service Provider (इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर)
  28. ISH - Information Super Highway (इनफार्मेशन सुपर हाईवे)
  29. LAN - Local Area Network (लोकल एरिया नेटवर्क)
  30. LDU - Liquid Display Unit (लिक्विड डिस्प्ले यूनिट)
  31. LISP - List Processing (लिस्ट प्रोसेसिंग)
  32. LLL - Low Level Language (लो लेवल लैंग्वेज)
  33. MBPS - Mega Byte Per Second (मेगा बाइट पर सेकण्ड)
  34. MICR - Magnetic Ink Character Reader (मैग्नेटिक इंक करैक्टर रीडर)
  35. MIPS - Millions of Instructions Per Second (मिलियंस ऑफ़ इंस्ट्रक्शंस पर सेकण्ड)
  36. MOPS - Millions of Operation Per Second (मिलियंस ऑफ़ ऑपरेशन पर सेकण्ड)
  37. MODEM - Modulator - Demodulator (मोडयुलेटर डिमोडयुलेटर)
  38. NICNET - National Information Centre Network (नेशनल इनफार्मेशन सेंटर नेटवर्क)
  39. OMR - Optical Mark Reader (ऑप्टिकल मार्क रीडर)
  40. PC-DOS - Personal Computer Disk Operating System (पर्सनल कंप्यूटर डिस्क ऑपरेटिंग सिस्टम)
  41. PROM - Programmable Read Only Memory (प्रोग्रामेबल रीड ओनली मेमोरी)
  42. RAM - Random Acess Memory (रैंडम एक्सेस मेमोरी)
  43. ROM - Read Only Memory (रीड ओनली मेमोरी)
  44. RPG - Report Programme Generator (रिपोर्ट प्रोग्राम जनरेटर)
  45. SNOBOL - String Oriented Symbolic Language (स्ट्रिंग ओरिएंटेड सिंबॉलिक लैंग्वेज)
  46. VDU - Visual Display Unit (विसुअल डिस्प्ले यूनिट)
  47. VLSI - Very Large Scale Integration (वैरी लार्ज स्केल इंटीग्रेशन)
  48. URL - Uniform Resource Locator (यूनिफार्म रिसोर्स लोकेटर)
  49. WAN - Wide Area Network (वाइड एरिया नेटवर्क)
  50. WWW - World Wide Web (वर्ल्ड वाइड वेब)
  51. Y-2K - Year 2000 Crisis (ईयर 2000 क्राइसिस)

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

SEO by TechNetSurf. Powered by Blogger.